Success story of cadbury chocolate

inspirational stories in hindi , inspirational story in hindi , motivational stories in hindi , motivational story in hindi, success story , life story

18 वीं सदी के England  में ” quakers family ” नामक  समुदाय थे। ये लोग खुद को दोस्तों का धार्मिक समूह कहते थे इनकी अपनी मान्यताए ,परम्पराए और नियम तो थे लेकिन वह किसी चर्च या धार्मिक संस्था से नहीं जुड़े थे। ईश्वर और अपने बीच किसी अन्य की मौजूदगी उन्हें ना  पसंद थी। Europe की University  में इनके बच्चो को प्रवेश नहीं मिलता था और न ही इन्हे सेना में जाने का अवसर मिलता था ऐसे में Medical  , Engineering  या सेना का Career कवाकर्स युवाओ के लिए पहुंच से बहुत दूर था। जाहिर है Business ही  उनके लिए एक मात्र सुरक्षित रास्ता था ऐसे ही एक परिवार में १२ अगस्त १८०१ को Cadbury के संस्थापक John Cadbury का जन्म हुआ, John के साथ दिक्कत यहाँ थी की उनका परिवार शराब ,मॉस व् धूम्रपान आदि चीज़ो का बहुत ज्यादा विरोधी था। खुद जॉन की भी अपनी परंपरा और मूल्यों के प्रति गहरी आस्था थी इसलिए उस दौर के अन्य यूवाओ की तरह वह किसी भी इस तरह के  Business में हाथ नहीं डाल सकते थे।
John  अपने स्कूली दिनों में Pocket money के लिए लिड्स के एक Coffee shop में काम करते थे। १८२४ में उन्होंने शराब पीने वालो को स्वस्थ के लिए हितकर Drink  उपलब्ध करने की सोच के साथ Birmingham इलाके में दो कमरो में एक Coffee shop  खोली यहाँ उन्होंने चाय coffee के साथ एक छोटा हिस्सा cocoa और Chocolate drink  के लिए भी रखा। और धीरे धीरे दुकान चल निकली लेकिन एक दिलचस्प बात है कि चाय coffee  से ज्यादा मांग John  के chocolate drink  की थी, इसवजह से उन्होंने इसी उत्पाद पर ध्यान केंद्रित किया इसके बाद की कहानी इतिहास में दर्ज है। cadbury company  की सुरुआत करने के २ साल बाद १८२६ में John  ने अपने  से २ साल बड़ी प्रिसिला ऐना डेमोन से शादी की लेकिन शादी के २ साल बाद ही ऐना की मौत हो गई। १८३२ में जॉन ने कैंडिया बारो से शादी की इस दंपत्ति के सात बच्चे हुए १५ साल के भीतर ही Jhon cadbury अपनी ख़ास तरह की chocolate और drinks के कारण पुरे Britain  में एक लोकप्रिय नाम हो गए तब तक उनके भाई बेंजामिन भी Company से जुड़ चुके थे और company  को cadbury brothers के नाम से जाना जाता था। १८३१ में john ने एक चार मंजिला ईमारत में factory  शुरू की। १८४२ तक आते आते John  की company cadbury  १६ तरह की chocolate drink  और coco बना रही थी। १८४७ में John ने Birmingham के बीचोबीच नई ईमारत में अपनी Factory स्थानांतरित कर दी। ५० के दशक में John और Benjamin  के बीच खटास आ गई। और Benjamin company  से अलग हो गए इस दौर में John  के बेटो रिचर्ड और जॉर्ज ने Business में रूचि लेना शुरू किया। 1861 में स्वास्थ सम्बन्धी दिक्कतों के कारण जॉन रिटायर हो गए , इस वक्त उनके बेटे रिचर्ड की उम्र २५ साल और जॉर्ज की उम्र २१ साल थी। इन युवाओ को एक स्थापित कारोबार मिला था। जिसे इन्होने एक नई उचाईयो पर पहुचाया। रिचर्ड और जॉर्ज ने पिता के पारम्परिक तरीको के साथ नई तकनीक का मेल कर केडबरी को दुनिया भर की चाहिती चॉकलेट बनाया है। ११ मई १८८९ को जॉन कैडबरी ने दुनिया को अलविदा कह दिया। दुनिया की पहली Milk Bar Chocolate  १८७५ में switzerland  के कारोबारी डेनियल पिटर ने बनाई। इस उत्पाद से Cadbury brothers  को कड़ी टक्कर मिली। १८९९ में रिचर्ड की मौत के बाद जार्ज ने भी कारोबार अगली पीढ़ी को सोपने की तैयारी शुरू कर दी हालांकि रिटायरमेंट से पहले १९०५ में जॉर्ज ने कैडबरी की मशहूर डेरी मिल्क चॉकलेट का अविष्कार किया।
इस Cadbury company  की शुरुआत अकेले John cadbury  ने की थी लेकिन आज ८० हजार कर्मचारी है और Cdabury  की कुल संपत्ति 11 बिलियन पाउंड यानि तक़रीबन 1-हजार अरब रुपये है। सोच, सपने और कुछ करने की चाहत अगर हो तो वाकई आप इंसान क्या  नहीं कर सकता यही John cadbury  पूरी दुनिया को दिखा कर ही इस दुनिया से गए।

Note-किसी भी success story, inspirational story को पढ़ने से नहीं उसको जीवन में उतरने के बाद ही  आप सफलता की कामना कर सकते हो।