बिना कहे भी लोगो को समझा सकते हो -Motivational stories and inspirational stories in hindi

82c150e8-f090-4b2e-a66e-0350936fbff8

कुछ दिन पहले की ही बात है।  मैं ATM से पैसे निकलने गया था। वहा  देखा काफी भीड़ लगी थी ATM users की।  मैं भी line में खड़ा हो गया।  मैंने देखा की ATM के अंदर 3 लोग एक साथ घुसे हुए है। मन में सोचने लगा की ऐसे ही लोगो की वजह से सुनने को मिलता है की किसी ने उसके Account  से पैसे निकाल लिए या ATM से निकल लिए और फिर कहने लगते है की दुनिया में चोर बहुत हो गए है। अरे भाई जब बैंक के Rule follow  नहीं करोगे तो ऐसा तो होगा ही। फिर भी लोग अपनी गलतियों को दुसरो पर थोपने से बाज कहा आते है।  खैर मैं काफी देर तक अपने Number आने  का Wait  करता रहा।  परन्तु ये सिलसिला चलता रहा की एक निकालता तो दूसरा अंदर चले जाता और फिर ATM  में 3 के 3, एक साथ।  मेरा मन तो बहुत किया कि चिल्ला दूँ पर मैंने शांति  से  काम लिया और जब मेरा Number आया तो मैं अंदर नहीं गया ,लोगो ने कहा भी कि भाईसाहब अंदर जाओ परन्तु मैंने मना  कर दिया और तीनो का बहार निकलने का इंतजार करता रहा।  जब तीनो ATM से बाहर आ गए तब मैं अंदर गया। अंदर जाने पर मैंने पीछे मुड़ कर देखा तो कोई भी दूसरा व्यक्ति अंदर नहीं आया।  मैंने पैसे  निकले और चुपचाप बाहर आ गया और कुछ दूर जाकर खड़े होकर देखने लगा।  तो मैंने ये देखा की अब एक आदमी अंदर जा रहा है और जब तक वह बाहर नहीं आ जाता कोई दूसरा व्यक्ति अंदर नहीं जाता।  मैं मुस्कराते हुवे वहा से चला गया।  दोस्तों बात छोटी सी है परन्तु मुझे सबक बड़ा मिला कि कुछ बाते बिना कहे भी लोगो को समझा सकते हो, बस आपके समझाने का तरीका लाजवाब होना चाहिए। याद रखो कि यदि  आप अपनी बात को लोगो तक पहुचना चाहते और चाहते हो कि वो लोग आपकी उस बात को माने तो थोडा इंतजार करो क्योकि मैं चाहता तो मैं भी बाकि लोगो कि तरह अंदर चले जाता क्योकि जल्दी तो मुझे भी थी  और चाहता तो बोल भी सकता था ,लेकिन हो सकता था कि कुछ मानते और मैं जब अंदर गया तब नहीं आते लेकिन बाद में वही करते जो वे लोग कर रहे थे।  लेकिन मैंने ऐसा नहीं किया क्योकि मैं नहीं चाहता था कि कोई मेरी बात कोई समझे और कोई नहीं , लेकिन   मैंने अपनी बात को समझाने  के लिए इंतजार किया , फिर वही हुआ जो मैं चाहता था….. वो भी बिना बोले।  याद रखो कि चाहे आप लोगो का अच्छा चाहते हो लेकिन उनको समझाने जाओगे तो वो नहीं समझेंगे क्योकि  इस दुनिया में समझदारो कि कमी नहीं है। वे जितने समझदार होते है उससे भी ज्यादा समझदार बनते है और आपकी बात नहीं मानते।