पैसा अपने आप ही आता है

money2

अगर आप ढेर सारा पैसा बना चाहते हो तो ढेर सारा पैसा बनाने का मंत्र है कि आप पैसो को कभी भी अपना लक्ष्य न बनाए। हो सकता है कि आप को ये झूट लगे परन्तु मेरा ये सत्य कुछ सामान्य सच्चाइयो पर आधारित है। आप अपने सफ़र कि सुरुआत कुछ नया करने या फिर जो सामान आपके पास बेचने के लिए उपलब्ध है या कोई सेवा जो आप दे रहे है उनकी गुणवत्ता को सुधारने कि तीव्र इच्छा से कीजिए। किसी भी स्तर पर पैसा आपकी सोच में भी नहीं आना चाहिए। सारा ध्यान अपनी गुणवत्ता बढ़ने में और व्यापार को बढ़ाने में हो ,अब ऐसा हो जाएगा तो पैसा अपने आप ही आने लगेगा। जब आपके सामान और सेवाओ कि गुणवत्ता अच्छी होती है तो आपके ग्राहको का विश्वास बढ़ता है। जिससे आपकी कंपनी का विकास होगा। दुनिया में कुछ लोग ऐसे भी है जो सिर्फ अपना सामन बेचने में लगे होते है वे ये नहीं देखते कि क्या वह गुणवत्ता वाला सामान है या लोगो को उसकी जरुरत है या नहीं ? बस उनका एक ही लक्ष्य होता है कि पैसा कैसे बनाया जाए और ऐसे लोगो के ग्राहको को जल्दी ही उनकी असलियत का पता लग जाता है। और अगर एक बार वो ग्राहको के दिमाग में ब्लैकलिस्टेड हो गए तो उनका पतन निश्चित है फिर चाहे वो कितना भी दम लगाले। क्योकि इस बात का इतिहास गवाह है कि ऐसे लोग न केवल , सदा के लिए मार्किट से बहार हो गए और बल्कि उन्हें कड़ी प्रतिस्पर्धा का सामना करना पड़ा ,और ऐसे लोगो कि नियत को अगर बार ग्राहक samajh गया तो जो भी उन्हें जनता है या समझता है वे ऐसे लोगो के सामान और सेवाओ को गलती से भी नहीं खरीदेगा। दूसरी और अगर यदि आपके सामान और सेवाओ कि गुणवत्ता उच्च है तो इसका उल्टा भी सत्य है जिसका भी इतिहास गवाह है। आपके पास ग्राहको कि ऐसी फ़ौज होगी जो आपके सामान को निरंतर खरीदेंगे और लोगो से आपके सामने कि फ्री में प्रशंसा भी करेंगे। यही वो चीज जो आपके कैश रजिस्टर को सालो साल भरता रहता है।
पैसा बनाने की जल्दी या गुणवत्ता की अपेक्षा, पैसे को महत्व देना केवल इस उम्मीद के साथ की उससे ज्याद पैसा आएगा , सरासर बेवकूफी है और ये साबित करता है की आपने लोगो को सिर्फ लूटने के लिए बाज़ार में कदम रखा है। और ये बात लोगो को पता लगने में ज्यादा देर नहीं लगती।