कितने कौए ? Akbar birbal story

akbar and birbal motivational story ,akbar and birbal motivational stories ,akbar and birbal inspirational story ,akbar and birbal inspirational stoies

एक दिन अकबर अपने मत्रीं बीरबल के साथ अपने महल के बाग में घूम रहे थे।  बीरबल बागों में उडते कौओं को देखकर कुछ सोचने लगे और बीरबल से पूछा, “क्यों बीरबल, हमारे राज्य में कितने कौए होंगे?”
बीरबल ने कुछ देर अंगुलियों पर कुछ हिसाब लगाया और बोले, “हुज़ूर, हमारे राज्य में कुल मिलाकर ५,५५५ ३७५  कौए हैं” ।
अकबर -“तुम इतना विश्वास से कैसे कह सकते हो?”
बीरबल बोले-“हुज़ूर,अगर आप को विश्वास न हो तो आप खुद गिन लीजिए ”
बादशाह ने बीरबल से कहा , “बीरबल, यदि इससे कम हुए तो?”
“तो इसका मतलब है कि कुछ कौए अपने रिश्तेदारों से मिलने दूसरे राज्यों में गये हैं. और यदि ज्यादा हुए तो? तो इसका मतलब यह हैं हु़जूर कि कुछ कौए अपने रिश्तेदारों से मिलने हमारे राज्य में आये हैं”, बीरबल ने मुस्कुरा कर जवाब दिया।
अकबर एक बार फिर बीरबल की हाजिर जवाबी , और बुद्धिमान बीरबल के जवाब पर मुस्कुराए बगैर नहीं रह सके।
दोस्तों वाकई इंसान को हाजिर जवाब होने के लिए ज्ञान की आवश्यकता पड़ती है अगर आपके पास ज्ञान है हो आपके दोस्त और दुश्मन आपसे सवाल करने से या कुछ कहने से पहले लाख बार सोचेंगे।

Note– कोई भी  Motivational story या  inspirasional srories आप को सिर्फ बता सकती है की क्या करना है , कैसे करना है , क्यों करना है और क्या फायदा होगा  लेकिन  उसे जीवन में उतारना आपके आपने हाथ में है और जब  तक आप इसे जीवन में नहीं उतरोगे तब तक इसका कोई फायदा नहीं और इसे पढ़ना व्यर्थ है।