इन्सान का लक्ष्य होना चाहिए…

car-ke-piche-kutta-1

एक व्यक्ति रोज देखता है की उसके पडोसी का कुत्ता, रास्ते से गुजरने वाली हर एक गाड़ी के पीछे भागता है, उसको पकड़ने के लिए। जब एक दिन उसका पडोसी उस्सने मिलने आता है तो वो कहता है की आपका कुत्ता बड़ा ही खतरनाक है, वो रोज किसी न किसी गाड़ी के पीछे भागता है , देखना एक दिन वो किसी न किसी गाड़ी को पकड़ हे लेगा ! उसकी ये बात सुनकर कुत्ते का मालिक कहता है – आप बिलकुल सही कह रहे हो की वह एक दिन किसी न किसी गाड़ी को पकड़ लेगा !…….परन्तु मेरी समझ में ये नहीं आता की वो गाड़ी को पकड़ भी लेगा तो उसका करेगा क्या ?

हर इन्सान ये मालूम होना चाहिए की वो जो भी काम कर रहा है वो क्यों कर रहा है, बिना लक्ष्य के काम करने का कोई मतलूब नहीं, इनसान को हमेशा व् हर काम को लक्ष्य बना कर काम करना चाहिए और तब तक भागना चाहिए,……… जब तक की उस लक्ष्य को हासिल ना कर ले। वर्ना मैंने अपनी जिंदगी में अधिकतर इंसानों को भी यही करते देखा है की वो लक्ष्य बनाते है ,और उसके पीछे भागते भी है लेकिन कुछ दूर तक भागने के बाद थक जाते है और पीछा करना छोड़ देते है।